in

पूर्व मंत्री के बेटे समर्थकों समेत बीएसपी में शामिल, पार्टी जॉइन करने के बताई ये वजह


LEFT NEWS : समाज में पिछड़े लोगों को बराबरी पर लाने के प्रयासों और मानवीय मूल्यों की खबरें

पूर्व मंत्री के बेटे समर्थकों समेत बीएसपी में शामिल, पार्टी जॉइन करने के बताई ये वजह

सपा-बसपा का गठबंधन 2019 के लोकसभा चुनाव में होना तय है। इसी बीच कई नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला निरंतर जारी है।दरअसल, विधानसभा चुनाव 2012 में समाजवादी पार्टी की टिकट पर एत्मादपुर से चुनाव लड़ने वाले पूर्व मंत्री के पुत्र बसपा में शामिल हो गए है। उनके बसपा में जाने से क्षेत्र की राजनीति में हलचल तेज हो गई हैं।

आपको बता दें कि प्रेमसिंह बघेल ने बसपा में वापसी की है। लखनऊ में पूर्व सीएम मायावती के सामने वे बसपा में शामिल हुए। बसपा जिलाध्यक्ष भारतेंदु अरुण के अनुसार उन्हें तीन लोकसभा क्षेत्र में काम करने की जिम्मेदारी मिली है।प्रेम सिंह बघेल समाज को बसपा से जोड़ने का काम करेंगे। आगरा, फतेहपुर सीकरी और हाथरस लोकसभा क्षेत्र में सक्रिय रहेंगे। प्रेम सिंह बघेल पूर्व मंत्री किशन लाल बघेल के पुत्र हैं जो साइकिल चुनाव चिन्ह पर एत्मादपुर का विधानसभा चुनाव 2012 भी लड़ चुके हैं।

तो वहीं प्रेस वार्ता में जब उनसे पूछा गया कि सपा और बसपा का गठबंधन तय है, ऐसे में उन्होंने पार्टी क्यों बदली। इस सवाल के जवाब पर उन्होंने बताया कि उनके पिता पूर्व मंत्री किशन लाल बघेल बसपा सरकार में मंत्री बने थेवे पहले से ही बसपा परिवार का हिस्सा थे। पिता चाहते थे कि वे बसपा में रहें। उनकी मृत्यु के बाद बहुत सोच विचार किया और घर वापसी की।

SRE News

सपा-बसपा का गठबंधन 2019 के लोकसभा चुनाव में होना तय है। इसी बीच कई नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला निरंतर जारी है।दरअसल, विधानसभा चुनाव 2012 में समाजवादी पार्टी की टिकट पर एत्मादपुर से चुनाव लड़ने वाले पूर्व मंत्री के पुत्र बसपा में शामिल हो गए है। उनके बसपा में जाने से क्षेत्र की राजनीति में हलचल तेज हो गई हैं।

आपको बता दें कि प्रेमसिंह बघेल ने बसपा में वापसी की है। लखनऊ में पूर्व सीएम मायावती के सामने वे बसपा में शामिल हुए। बसपा जिलाध्यक्ष भारतेंदु अरुण के अनुसार उन्हें तीन लोकसभा क्षेत्र में काम करने की जिम्मेदारी मिली है।प्रेम सिंह बघेल समाज को बसपा से जोड़ने का काम करेंगे। आगरा, फतेहपुर सीकरी और हाथरस लोकसभा क्षेत्र में सक्रिय रहेंगे। प्रेम सिंह बघेल पूर्व मंत्री किशन लाल बघेल के पुत्र हैं जो साइकिल चुनाव चिन्ह पर एत्मादपुर का विधानसभा चुनाव 2012 भी लड़ चुके हैं।

तो वहीं प्रेस वार्ता में जब उनसे पूछा गया कि सपा और बसपा का गठबंधन तय है, ऐसे में उन्होंने पार्टी क्यों बदली। इस सवाल के जवाब पर उन्होंने बताया कि उनके पिता पूर्व मंत्री किशन लाल बघेल बसपा सरकार में मंत्री बने थेवे पहले से ही बसपा परिवार का हिस्सा थे। पिता चाहते थे कि वे बसपा में रहें। उनकी मृत्यु के बाद बहुत सोच विचार किया और घर वापसी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading…

0

Comments

Uttar Pradesh: SP, BSP और RLD के लिए 7 सीटें छोड़ेगी कांग्रेस। LeftNews.in

कांग्रेस इसलिए बनाएगी मायावती को पीएम!/Congress will make Mayawati prime minister!