in

Kanshi Ram’s life journey and his political career as a dalit leader (BBC Hindi)

भीमराव आंबेडकर के बाद कांशीराम को दलितों का सबसे बड़ा मसीहा माना जाता है. मायावती को राजनीति में लाने वाले कांशीराम ही थे. कांशीराम की जयंती पर उन्हें याद कर रहे हैं रेहान फ़ज़ल विवेचना में.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading…

0

Comments

मुंबई फुटओवर ब्रिज हादसे में 6 की मौत/हादसे का कौन है जिम्मेदार?/Mumbai Bridge collapse

Bheem Army Hunkar Rally Delhi